शहर की लड़की रवीना बन गयी हैं आरण्यक! अनवाईन्स काजीरंगा अल्ट्रा रन से जुड़कर होगी राइनो की रक्षक!

बॉलीवुड एक्ट्रेस रवीना टंडन हाल ही में अंवायिन्स काजीरंगा अल्ट्रा रन को अपना सहयोग करती हुई दिखाई दी। भारतीय जानवर राइनो के रख-रखाव और उनकी सुरक्षा के लिए अंवायिन्स काजीरंगा अल्ट्रा रन द्वारा उठाया गयी इस नेक पहल का रवीना ने खुले दिल से स्वागत किया । आपको बता दे कि अंवायिन्स काजीरंगा अल्ट्रा रन 28 जनवरी, 2023 को होनेवाला हैं।
इस अल्ट्रा रन का सबसे बड़ा उद्देश्य हैं कि  दुर्लभ-एक सींग वाले गैंडों के लिए समर्थन व्यक्त करना और जनता को इस बात से अवगत कराना की ये जानवर हमारे देश के लिए बेहद गौरवशाली हैं।
एक वन्यजीव उत्साही और एक कार्यकर्ता, रवीना भी इस नेक पहल के लिए बेहद उत्साहित हैं जो खुद साल 2023 की शुरुआत में अंवायिन्स के साथ काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान का दौरा करेंगी जहाँ वो पशु और उसके संरक्षण के विभिन्न प्रयासों के पहलुओं को समझेंगी। इस खास मौके पर आकर रवीना कहती हैं कि,”  मानवजाति को ये समझना  ज्यादा जरूरी हैं कि जीवन का मूल आधार सह- आस्तित्व में ही हैं। अगर आप जंगल के आर-पार सड़के बनाते हैं  तो ये जरूरी हैं कि वहाँ एक घेरा बनाया जाए ताकि पशुओं की रक्षा हो सके। जमीन के नीचे या ऊपर की तरफ जानवरो के लिए उचित रास्ते बने। इंसान और जानवरों की लड़ाई हमेशा से जीवित रही हैं लेकिन जब अनवाईन्स काज़ीरंगा अल्ट्रा रन की ये पहल निशिकान्त दास द्वारा राइनो के रख-रखाव के लिए ली गयी तो ऐसे नेक पहल को मेरा हमेशा सपोर्ट रहेगा।”
असम में अब तक का ये पहला अल्ट्रा-रन होगा जो चार श्रेणी में बटा हैं। धावकों के चयन के लिए श्रेणियाँ – 52 KM ,26 KM, 14 KM और 5 KM।  ये अल्ट्रा रन शुरू होगी एक यह पगडंडी से,प्राचीन ग्रामीण सेटिंग्स, धान के खेतों और चाय बागानों के बीच से जो उन्हें बनाने का वादा करते हैं जो शहर के समकक्ष कम रोमांचक दिखते हैं।
भारत सरकार ने इस पहल के लिए मिनिस्ट्री ऑफ डेवलोपमेन्ट ऑफ नार्थ ईस्ट रीजन (M-DoNER) के माध्यम से समर्थन का हाथ बढ़ाया है।जबकि स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने अपने फिट इंडिया मूवमेंट के तहत इस आयोजन का समर्थन किया है और उन्हें गर्व हैं कि वो बंधन बैंक से जुड़ पाए जो इस कार्यक्रम को प्रस्तुत करेंगे। इतना ही नही एचडीएफसी एर्गो( वेलनेस पार्टनर) और एचडीएफसी लाइफ को लाइफ इंश्योरेंस के रूप में पाकर भी काफी खुश हैं ।  रिज़ॉर्ट बोर्गोस भी एक इवेंट के लिए वेन्यू पार्टनर के तौर पर जुड़ गए हैं जो, काजीरंगा की प्रीमियम संपत्तियों में शुमार हैं ।  इस कार्यक्रम का आयोजन पूर्वोत्तर भारत की अन्वायंस ट्रेवल्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा किया जा रहा हैं। जो नार्थईस्ट इंडिया का काफी प्रतिष्ठित मंच हैं जो
इस क्षेत्र के माध्यम से क्यूरेटेड यात्रा देने का वादा करता है।
काजीरंगा, यकीनन असम का सबसे प्रसिद्ध चेहरा है, लेकिन एक दुर्लभ घर हैं एक-सींगवाले जानवर राइनो के लिए । जो आज बड़े पैमाने पर अवैध शिकार के कारण आबादी में कम होते जा रहे हैं।
लेकिन सरकार और फाउंडेशन के अथक प्रयासों के कारण पिछले एक दशक में गैंडों की संख्या में धीरे-धीरे वृद्धि हुई है। और इस अल्ट्रा रन के माध्यम से जो राशि इक्कठा होगी उसका एक अहम हिस्सा काजीरंगा गैंडों के संरक्षण के लिए दिया जाएगा।
प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए, अन्वायिन्स के संस्थापक और सीईओ निशिकांत दास ने कहा, “यह अल्ट्रा रन का उद्देश्य न केवल गैंडों के संरक्षण में योगदान देना है, बल्कि पूर्वोत्तर भारत के लिए हमारे इस गहरे अध्ययन की एक पहल हैं कि हम उसकी  प्राकृतिक सुंदरता और देश की असाधारण सामाजिक-सांस्कृतिक प्रथाओं की भूमि को विकसित करने में कुछ सहयोग कर पाए। इतना ही नही हम इसे एक वार्षिक राष्ट्रीय कार्यक्रम बनाने के लिए दृढ़ संकल्पित भी हैं।”
इसके साथ ही अनवाईन्स मूल रूप से पूरे इवेंट का खर्चा उठाने के लिए तत्पर हैं पर अब हमारे साथ काफी स्पॉन्सर्स भी जुड़ रहे हैं। जैसे बंधन बैंक लिमिटेड, एचडीएफसी एर्गो जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड और एचडीएफसी लाइफ इंश्योरेंस कंपनी।”
लि. अपूर्वा सिरकार, हेड-मार्केटिंग, बंधन बैंक ने कहा, ”अंवायिन्स काजीरंगा अल्ट्रा रन 2023 से जुड़ने का हम सभी को गौरव मिला हैं। इस बात की हमे बेहद खुशी हैं।बंधन बैंक के लिए नार्थईस्ट और असम हमेशा से एक महत्वपूर्ण बाजार रहे है और यह देखकर खुशी होती है कि अंवायिनस ने  वन्यजीव संरक्षण और जलवायु के क्षेत्र में सार्थक प्रभाव पैदा करने पर ध्यान केंद्रित किया।

   

शहर की लड़की रवीना बन गयी हैं आरण्यक! अनवाईन्स काजीरंगा अल्ट्रा रन से जुड़कर होगी  राइनो की रक्षक!

SHEHER KI LADKI – Raveena Tandon goes the Aranyak way for the Rhinos with the Anvayins Kaziranga Ultra Run

The Anvayins Kaziranga Ultra Run 2023 scheduled for January 28, 2023 has a unique social objective – to express support for the rare-one horned rhinoceros and deepen public consciousness for the glorious animal.
Noted Bollywood actor, Raveena Tandon has come on board to support the cause of rhinos while promoting Northeast India. A wildlife enthusiast and activist herself, Raveena will also be visiting the Kaziranga National Park in early 2023 with Anvayins for a rendezvous with the animal and understand the various efforts for its conservation. Speaking at the press conference held at Mumbai on December 21, 2022, Raveena said, “It is important for mankind to understand that life is about coexistence. When you build roads across the jungle, it is important to fence them and make overhead or underground pathways for animals. Man-animal conflict will always exist, but when initiatives like Anvayins Kaziranga Ultra Run initiated by Nishikant Das are conceived to protect the rhino and other wildlife, they will always have my support.”
The Anvayins Kaziranga Ultra Run 2023, the first ever ultra-run in Assam, will have four race categories for runners to choose from – 52 KM 26 KM, 14 KM and 5 KM. This trail runs through pristine rural settings, paddy fields and tea plantations that promise to make their city counterparts look less exciting. The Government of India through the Ministry of Development of Northeast Region (M-DoNER) has extended its support for the initiative while Sports Authority of India has endorsed the event under its Fit India Movement program. We are proud to be associated with Bandhan Bank as they present this event. We are also delighted to have HDFC ERGO as Wellness Partner and HDFC Life as Life Insurance Partner. Resort Borgos, one of the premium properties at Kaziranga has joined as the Venue Partner. The event is organized by Anvayins Travels Private Limited, a Northeast India focused travel and hospitality platform that offers curated journeys through the region.
Kaziranga, arguably the best-known face of Assam, is home to the rare one-horned rhinoceros. After a steady decline in its population largely due to poaching, the number of rhinos has gradually increased in the last decade due to focused efforts by the government and various foundations dedicated to rhino conservation. In line with the goal of the ultra-run, a portion of funds available in excess of expenses of the event will be contributed towards the conservation of the Kaziranga rhino.
Nishikant Das, founder and CEO, Anvayins expressed, “This event not only aims at making a contribution to the cause of rhino conservation but also is another initiative by Anvayins to facilitate a deeper understanding of Northeast India, a land of exquisite natural beauty and extraordinary socio-cultural practices amongst the rest of the country. Accordingly, we are determined to make it an annual national event.”
While Anvayins had originally committed to the entire capital for the event, the company has now received financial sponsorship from reputed financial institutions such Bandhan Bank Ltd, HDFC ERGO General Insurance Company Ltd and HDFC LIFE Insurance Company Ltd. Apurva Sircar, Head – Marketing, Bandhan Bank, said, “It is our pleasure to be.

 

SHEHER KI LADKI – Raveena Tandon goes the Aranyak way for the Rhinos with the Anvayins Kaziranga Ultra Run

‘विक्रम गोखले के साथ काम करने का मेरा सपना अधूरा रह गया’ ! सिंटा द्वारा रखी गई शोक-सभा में छलका शबाना आज़मी का दर्द !

‘विक्रम गोखले के साथ काम करने का मेरा सपना अधूरा रह गया’ ! सिंटा द्वारा रखी गई शोक-सभा में छलका शबाना आज़मी का दर्द !

फिल्मी पर्दे के चहेते, अभिनय की खान और दर्शकों के दिल को छू लेनेवाले लीजेंड अभिनेता श्री विक्रम गोखले आज हमारे बीच नही हैं लेकिन उनके द्वारा किये गए अद्भुत अदाकारी के नजराने फिल्मी इतिहास के पन्नों में सुनहरे अक्षरों में दर्ज हो चुके हैं। सिंटा ने हाल ही में दिवंगत विक्रम जी के आत्मा की शांति के लिए मुम्बई के इस्कॉन मंदिर में एक शोक सभा का आयोजन किया जहा पर विक्रम गोखले जी की पत्नी ऋशाली गोखले के अलावा शबाना आज़मी,जॉनी लीवर, सिंटा जनरल सेक्रेटरी अमित बहल,सिंटा खजिनदार अभय भार्गव, संजय भाटिया,स्मिता जयकर, गजेंद्र चौहान,वरुण वडोला,राजेश्वरी सचदेव,रवि झांकल,सुधीर पांडे,दीपक काज़ीर केजरीवाल,अनंग देसाई और सिंटा एग्जीक्यूटिव कमिटी के मेंबर्स मौजूद थे।
डोमिनिक लुकर, जनरल सेक्रेटरी ऑफ फ़िया (FIA) ने एकजुटता दिखाते हुए ग्लोबल यूनियन के पक्ष से कहा कि,” इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ एक्टर्स(FIA), परफॉर्मर्स यूनियंस,गिल्डस और प्रोफेशनल एसोसिएशन का 25 देशों में प्रतिनिधित्व करती हैं और हमे खेद हैं राष्ट्रीय पुरष्कार विजेता श्री विक्रम गोखले,सिंटा के प्रेजिडेंट और बॉलीवुड के बेहद प्रतिभाशाली अभिनेता के गुजर जाने का।
भारतीय फिल्म उद्योग में एक उत्कृष्ट परिवार से आनेवाले, विक्रम गोखले, अविश्वसनीय रूप से एक प्रतिभाशाली अभिनेता थे, जो अपने उम्दा अभिनय के दम पर भारत और विदेश में मराठी थिएटर के साथ-साथ हिंदी फिल्मों और टेलीविजन में सैकड़ों भूमिकाओं के लिए प्रसिद्ध और सम्मानित थे। अभिनय का खजाना विक्रम गोखले जी, एक्टिंग की एक पाठशाला थे। एक ऐसे अपार सागर थे जिसकी एक बून्द के स्पर्श से ही नई प्रतिभाओं को अभिनय के कई आयाम सीखने मिलते। एक मेहनती और पूर्णतावादी अभिनेता, उन्होंने अपनी प्रतिभा को बेहतरीन शिल्प के लिए तराशा, शानदार प्रदर्शन दिया जो आने वाले समय के लिए सभी की याद में रहेगा।
विक्रम गोखले, एक दृढ़ सामाजिक कार्यकर्ता और एक निस्वार्थ इंसान भी थे, जो अपना अधिकांश समय और संसाधन जरूरतमंद लोगों और साथी कलाकारों की मदद करने में लगा देते थे। सिंटा प्रेजिडेंट होने की वजह से वो सिंटा के हर एक प्रतिनिधि के लिए आदर्श थे और रहेंगे। उनके दूरदर्शी नेतृत्व में, CINTAA वास्तव में एक समावेशी और प्रतिनिधि संघ बन गया है, जो भारत में सभी कलाकारों को उनके हक और अधिकार के लिए हमेशा बंधित और कार्यरत रहते हैं।
सिंटा के जनरल सेक्रेटरी अमित बहल ने कहा, ”विक्रम जी ने हमारी इंडस्ट्री पर एक गहरी छाप छोड़ी है।सिंटा के अध्यक्ष के रूप में उनके यादगार कार्यकाल में हमने साथ में खूब मस्ती की। वो ऐसी शक्सियत थे जो बहुत सच्चे और सरल थे। विक्रम जी मेरे लिए पिता समान थे। जब मेरे पिता की मृत्यु हुई तो दुख के क्षणों में वह शक्ति के स्तंभ की तरह खड़े थे।  बड़े से बड़े स्टार के भी आगे उन्होंने अपने अद्भुत अभिनय का दम दिखाया। ऐसे महान प्रतिभाशाली अभिनेता को मेरा कोटि कोटि नमन और मेरे ,सिंटा परिवार, विश्व के हर कोने से जुड़े लोगों की ओर से हम विक्रम गोखले जी को श्रद्धांजलि देते हैं। ।”
भावुक हुई शबाना आजमी ने कहा, “जब भी मैं विक्रम गोखले जी से मिलती थी, तो मैं उनसे केवल एक सवाल पूछती थी, “हम साथ में कब काम कर रहे हैं?”  वह हमेशा मुस्कुराते और जवाब देते थे, “जब भी आप कहें।”  मुझे इस बात का बहुत दुख है कि विक्रम जी के साथ काम करने का ये सपना मेरा अधूरा रह गया”।
एक्टर परेश रावल ने कहा कि,”विक्रम गोखले का नाम अकेले ही मुझे खुशी की एक जबरदस्त भावना देता है। इतना प्यारा, दयालु और सम्मानित आदमी। उनकी उपस्थिति ने हमें सुरक्षित महसूस कराया। उन्होंने कभी किसी बात और काम को किसी पर थोपा नहीं, केवल एक अनुभवी अभिनेता के रूप में हमारा मार्गदर्शन किया। मैंने थिएटर और फिल्म में उनके प्रदर्शन देखे हैं, और उनके साथ काम करना चाहता था, लेकिन मैं मुख्य रूप से गुजराती थिएटर में काम करता हूं, इसलिए हमें कभी भी मंच पर एक साथ काम करने का मौका नहीं मिला। लेकिन फिर, दे दना दन और भूल भुलैया आयी और हमने एक साथ काम किया। उनके पास एक बहुत ही राजसी और तीव्र आभा थी”।
सुभाष घई ने आगे कहा, “विक्रम गोखले अपने आप में एक संस्था थे। उन्होंने भविष्य की पीढ़ियों को प्रेरित करने वाले अविस्मरणीय कार्यों को पीछे छोड़ दिया है। विक्रम जी एक अभिनेता के रूप में सिर्फ एक प्रेरणा ही नहीं हैं , वह एक इंसान के रूप में प्रेरणादायक थे। भगवान उन्हें आशीर्वाद दें और उनकी आत्मा को शांति दे।”
विक्रम गोखले, भारतीय सिनेमा के दिग्गज, जिनका 77 वर्ष की आयु में कई अंग विफलता के कारण निधन हो गया, उनकी कई उल्लेखनीय फिल्में थीं, जिनमें हम दिल दे चुके सनम, अग्निपथ, नटरंग, खुदा गवाह शामिल हैं। उन्होंने इस उद्योग में एक शून्य छोड़ दिया है जो हमेशा मौजूद रहेगा।

  

‘विक्रम गोखले के साथ काम करने का मेरा सपना अधूरा रह गया’ ! सिंटा द्वारा रखी गई शोक-सभा में छलका शबाना आज़मी का दर्द !

My Dream Of Working With Vikram Gokhle Will Always Remain Unfulfilled – Shabana Azmi At CINTAA Tribute Prayer Meet

A prayer meeting in fond remembrance of veteran Artistes Vikram Gokhle was held at ISKCON Mumbai and was graced by the late actor’s wife Vrushali Gokhle as well as actors of the likes of Shabana Azmi, Johnny Lever, CINTAA General Secretary Amit Behl, CINTAA Treasurer Abhay Bhargava, Sanjay Bhatia, Smita Jaykar, Gajendra Chauhan, Varun Badola, Rajeshwari Sachdev, Ravi Jhankal, Sudhir Pandey, Deepak Qazir Kejriwal, Anang Desai, and the CINTAA Executive Committee Members among others.
Dominick Luquer, General Secretary, FIA expressed his solidarity on behalf of the global union. “The International Federation of Actors (FIA), representing performers’ unions, guilds and professional associations in more than 25 countries around the world, mourns the passing of National Film Award winner Vikram Gokhle, President of the Cine & TV Artistes’ Association (CINTAA) and one of Bollywood’s greatest actors of all time.
Coming from a family with a strong foothold in the Indian film industry, Vikram was an incredibly talented actor, celebrated and respected in his country and abroad for hundreds of roles in Marathi theatre as well as Hindi films and television. A hard-worker and perfectionist, he honed his talent to the finest of crafts, delivering stunning performances that will remain in the memory of all for times to come.
Vikram was also a convinced social activist and a selfless human being, spending much of his own time and resources to help people in need and fellow performers. He was and will continue to be a role model for us all. Under his visionary leadership, CINTAA has grown to become a truly inclusive and representative union, working tirelessly to improve terms and conditions of all artists in India and open to the world.
On behalf of our global membership, we extend our heartfelt sympathies to his close family, and to our fellow performers members of CINTAA.”
Averred Amit Behl, “Vikram ji has left an indelible mark on our industry. We had great fun together, in his memorable tenure as President of CINTAA. He was someone who was more genuine than genuine can be. On behalf of my entire Executive Committee and the Cine Artistes Welfare Trust, I express how we miss this amazing man, this phenomenal actor and human being who was still a child at heart. He put even the biggest Star to shame when he came into the frame. Such was his persona. Vikram ji was like a father to me. He was a pillar of strength in the moments of grief when my father died. This day is a tribute to him.”
Said an emotional Shabana Azmi, “Whenever I met Vikram Gokhle ji, I used to only ask him one question, “When are we working together?” He used to always smile and reply, “Whenever you say.” I am very sad that this dream of wanting to work with Vikram ji has remained unfulfilled.
“Vikram Gokhle’s name alone brings me an overwhelming sense of happiness. Such a sweet, compassionate and respected man. His presence made us feel safe. He never imposed, only guided us as the experienced actor he is. I have seen his performances in theatre and film, and wanted to work with him, but since I mainly work in Gujarati theatre, we never got the chance to work together on stage. But then came De Dhana Dhan and Bhool Bhulaiyaa, where we worked morning, evening and night. He had a very majestic and intense aura, and that reflected in his interactions with each of us,” said Paresh Rawal.
Added Subhash Ghai, “Vikram Gokhle was an institution in himself. He has left behind unforgettable works that inspire future generations. Vikram ji is not just an inspiration as an actor. He was as inspiring as a human being. God bless him!”
Vikram Gokhle, the stalwart of Indian cinema, who passed away at 77 due to multiple organ failure, had many notable films, including Hum Dil De Chuke Sanam, Agneepath, Natrang, Khuda Gawah among others. He has left a void in this industry that will always remain.

     

My Dream Of Working With Vikram Gokhle Will Always Remain Unfulfilled – Shabana Azmi At CINTAA Tribute Prayer Meet

MELODIES OF NATURE Art Exhibition By Contemporary Artist Aparna Deshpande In Jehangir Art Gallery

From: 20th to 26th December 2022

“Melodies of Nature”

An Exhibition of paintings by well-known contemporary artist Aparna Deshpande 

VENUE:

Jehangir Art Gallery

161-B, M.G. Road, Kala Ghoda,

Mumbai 400 001

Timing: 11am to 7pm

Contact: +91 98904 04970, +91 98500 81034

About Aparna Deshpande 

A picture speaks a thousand words,’ goes a saying that Aparna Deshpande seems to prove absolutely right. A natural dancer with vivid imagination, Aparna, at a very young age, with limited scope for communication in a regular way, began to immerse in the world of colours that threw up enchanting visual stories. Supportive parents –Kalpana and D P Nerkar – identified her innate talent, at a very young age, and encouraged her to explore and experiment. Aparna, post her schooling, pursued a diploma course in interior designing and decoration from the noted L S Raheja College, Mumbai.

She practiced painting on various surfaces and played with Japanese papers in creating pop-up greeting cards by employing various permutations and combinations. Her journey into the world of art continued with cartoon illustrations, landscape and portrait paintings, she has now cocooned out of and into abstract and surrealism and is now making her own mark in these art forms. Comfortable with oils, acrylics, watercolours etc, Aparna finds her paintings to be the manifestations of her inner core and an expression of collective experience. Her paintings, at times, are projections of the unique feelings stored and imprinted in her heart. Lively bursts of passionate colours and bold strokes with delicate renditions in her paintings are a reflection of her unreserved, genial personality.

“God has infused Aparna with immense ability to speak through her paintings,” said celebrated cartoonist Mangesh Tendulkar. “The almighty has shut one door but opened a vast roof of aesthetics and creative talent to manifest and spread joy.”

Aparna paints to spread positive message in this world. Aparna’s collection titled “ Melodies of Nature “, is a beautiful amalgamation of nature, emotions and the divine. Her paintings start off with youthful shapes and colours and transform into a novel of thoughts. Her creative paintings and photo realistic pictures stand out for their size and quality. . Aparna orchestrates multiple figures and forms from nature, on the canvas, to give birth to another larger forms with underlying concepts. Her unique arrangements of human and natural elements mutate into mesmerizing treat for the eyes. One truly feels the need to keep revisiting her paintings, only to obtain a different perspective each time.

 

MELODIES OF NATURE Art Exhibition By Contemporary Artist Aparna Deshpande In Jehangir Art Gallery