Himanshu Patel’s Epic Stories is a Wedding Photography Company that is creative and unmatched

Epic Stories is a wedding photography service that shoots various frames of the bride and groom with their family and friends during the wedding festivities.  Renowned wedding photographer Himanshu Patel has launched his new wedding photography company ‘Epic Stories’.  Epic Stories is based out of Mumbai, in the state of Maharashtra.

Not only wedding shoots in Epic Stories, but all pre-wedding shoots take place.  Through this company, they capture the special moments of the wedding couple and try to capture their love stories.  Epic Stories has done wedding photography of celebrities like Yuvika Choudhary, Shweta Tripathi, Prince Narula, Karishma Tanna and went abroad to shoot many international projects.

The panel of this creative service comprises of seasoned photographers, designers, filmmakers and creative directors, whose skills and creativity are always on track to make one’s wedding celebrations even more special by stabilizing the time with their craft.  This splendid wedding photography studio is passionately led by its leaders who ensure that the quality of service is not compromised in anything they do.  They are in this field for many years and are moving ahead strongly.

The pioneers of this brand ensure that the quality of service is of the best standards.  The Mumbai-based Wedding Photo Digital Studio team loves to click the beautiful chaos during the wedding festivities of a person’s life and deliver them in a format that they and their future generations can look back on and enjoy.  The stunning presentations of their captivating photo captures are a consistent part of their wedding services to leave their clients engrossed.

Himanshu Patel’s Epic Stories is a Wedding Photography Company that is creative and unmatched

Meet Ankur Chandrakant a person who consistently advances in the age of intelligence and consistently rates his abilities at the highest possible level

Since technology is regarded as the foundation of any business, it is present everywhere in the world as it expands day by day. Ankur Chandrakant is a well-known name in today’s generation who has taught people how to become more optimistic in life. Today, there are many people working for technology and the back hands. Ankur has over ten years of thriving experience and is a professional in both cyber forensics and cyber intelligence.

Born in 11 December 1987, Ankur Chandrakant is a person who constantly strives to achieve goals that are not related to laborious effort but rather to intelligence. He has believed since he was a young child that intelligence is more significant than hard effort. And as of right now, he works with several portals, giving them the best inspiration.

He has received numerous certificates and accolades up to this point. He pioneered several of the job opportunities and is currently a FOUNDER of the eProtect Foundation. After earning his BTech, he always aspires to do something extraordinary with his life, and by extraordinary, he does not only mean achieving fame and notoriety but also developing his virtual abilities and making the world a better place for him and his career prospects. Additionally, he received approval from a number of his dream employers, including Google. But he wants to take action on his own, so he keeps moving forward and never turns around while keeping this idea in mind.

He held positions at Google and Microsoft as a cyber forensic investigator and technical analyst, respectively. Through his company E-protect, he has also worked in the area of women’s and children’s welfare. Who are creativity and innovation? He has had more than a thousand women for free, and he wants to create a country where women also have a free role. VCLAP DIGITAL, LEARNING SOLUTIONS EDUFLUX360 and CYBER RADIX are some his educational startups that are touching the heights of sky. He has a strong belief in two concepts: innovation and creativity. For him, these concepts represent not just a word but also the future of his career. His innovations and ascent to the heights of the sky are only around the corner.

 

Meet Ankur Chandrakant, a person who consistently advances in the age of intelligence and consistently rates his abilities at the highest possible level.

दादासाहेब फाळके फिल्म फाऊंडेशन अवार्ड से देश विदेश के नये गायको सम्मानित किया जायेगा

दादासाहेब फाळके फिल्म फाऊंडेशन की ओर से देश विदेश के नये गायकों और कलाकारों को प्लेबैक सिगिंग और अदाकारी का मौका दिया जा रहा है।

अब तक दस नये गायक बड़ोदरा गुजरात से वसुधा पंड्या,वेस्ट बंगाल से मासुम रज़ा ,पुना महाराष्ट्र से मंजु सिन्हा, उत्तन  मुम्बई से क्लेमन डीसोझा ने मुम्बई के AB Studio मे रिकार्डिंग की, नोयेडा  शहर के Future of Music स्टुडीयो मे दिपा सराइ , संभल,उ॰प॰ के  साजरुल इस्लाम और  मोराबाद उ॰प॰ के ताहीर खान ने  दिग्गज शायर नफीस आलम की लिखी ग़ज़लों को रिकार्ड किया। मध्यप्रदेश से तरुना शुक्ला को भी एक गीत गाने का मौका दिया गया है ।कलकत्ता के Lets Mix स्टुडीओ  मे जयंता भट्टाचार्या ने आशफाक खोपेकर लिखीत गज़ल की रिकाॅर्डीग की,साउंड रिकिर्डीस बिस्वजीत और अरविंद  ने इसे अंजाम दिया। टेक्सास अमेरीका के Luminous sound recording studio मे  अमेरीका निवासी भारतीय श्री प्रशांत गुप्ता ने जानेमाने शायर हास्तीमल हास्ती  और अशफाक खोपेकर लिखीत दो ग़ज़लों को अपनी मधुर आवाज में रिकॉर्ड  किया। हैदराबाद के Laxvil dubbing and recording studio मे फरहा ज़ेबा खान ने रिकाॅर्डीग की,गोवा से संतोष ,,,,,ने मासा के स्टुडीयो मे एक गज़ल को अपनी आवाज दी।इसी के साथ तिनका तिनका ग़जल अल्बम  के सारी ग़ज़लो की रिकाॅर्डीग पुरी हो चुकी है!जाने माने मुझीक डायरेक्टर अलीगनी  जिन्होंने पंकज उदास की कई ग़ज़लों को अपने संगीत से सजाया “तिनका तिनका”इस अल्बम को अपनी बेहतरीन म्युझीक दी है। इस अल्बम में अंजान सागरी तथा नुसरत फाकीर जैसे दिग्गजों की ग़ज़लें शामिल है ।जुलै के आखिर मे अफरीन म्यूजीक  कंपनी द्वारा इसे रिलिज़ किया जाएगा।

प्लेबैक की कोशिश करते हुए इन सब कलाकारो ने स्टार मेकर app द्वारा अपनी काबिलियत के बल पर यह मौका साहील किया ।

स्टार मेकर ऍप में बनाए हुए दादासाहेब फाळके फिल्म फोन्डेशन पार्टी रुम द्वारा दादासाहेब फाळके फिल्म फाऊंडेशन की टीम योग्य गायकों का चयन कर उन्हें  उन्ही के शहर के रीकाॅर्डीग स्टुडियो में आने वाले नये फिल्म,अल्बम या सिरियल के गानों की प्लेबैक सिंगिंग करने का विना मुल्य मौका दिया जाता है। यह सिलसिला लाॅकडाऊन के समय को उपयोग में लेते हुए शुरु किया गया था।

कुछ और सिंगरों का चयन हो चुका था उन्हें अब मौका दिया जायेगा।इसी अल्बम के विडियो में भी नये कलाकारों को मौका मिलेगा। टेलेंटेड कलाकारों के स्ट्रगल  करते वक्त होनेवाली परेशानीयों को मध्य नजर रखते हुऐ दादासाहेब फाळके  फिल्म फाउंडेशन के अध्यक्ष आशफ़ाक़ खोपेकर और उन की टीम ने ओनलाईन माध्यम को चुनकर सरहानिय क़दम उठाया है। आगे भी इस सिलसिले को जारी रखते हुए और भी कलाकारो के लिए काम किया जा रहा है।इस अल्बम के सिंगरो और कलाकारों को दादासाहेब फाळके फिल्म फोन्डेशन अवार्ड की ओर से सन्मानित किया जायेगा।

 

दादासाहेब फाळके फिल्म फाऊंडेशन अवार्ड से ‌देश विदेश के नये गायको सम्मानित किया जायेगा

झारखण्ड के जिला खूंटी में गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड्स में नाम दर्ज करा चुका डॉक्टर 365 एवं आर के एच आईवी एड्स रिसर्च के एंड केयर सेंटर द्वारा फ्री जेनर मेडिकल कैम्प ।

झारखण्ड के जिला खूंटी में गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड्स में नाम दर्ज करा चुका डॉक्टर 365 एवं आर के एच आईवी एड्स रिसर्च के एंड केयर सेंटर द्वारा फ्री जेनर मेडिकल  कैम्प का आयोजन किया गया । शामिल हुए केंद्रीय जनजातीय मंत्री अर्जुन मुंडा व झारखंड के राज्यपाल रमेश वैस।।                           झारखंड में पहली बार छेत्रिय लेबल पर इतिहास रचने का काम  आर के एच आई वी एड्स रिसर्च एंड केयर सेंटर के चेयरमैन डॉ धर्मेंद्र कुमार  और उनकी पूरी टीम ने मिलकर किया है ।

*92,000 से अधिक लोगों का देश भर से जुटे 350 से ज्यादा. डॉक्टरों ने विभिन्न रोगों के लिए किया जांच।खूंटीअबुआ बुगिन स्वाथ्य’ यानि कि ‘हमारा बेहतर स्वास्थ’  विषय पर नवा पहल जनजातीय संवाद के तहत आज ज़िला खूंटी के बिरसा कॉलेज परिसर में मेगा स्वस्थ मेला का आयोजन किया गया। यह कार्यक्रम भारत सरकार के जनजातीय कार्य मंत्रालय द्वारा स्थानीय जिला प्रशासन के सहयोग से आयोजित किया गया।

इस स्वास्थ्य कैंप में 92 हज़ार से अधिक ग्रामीण महिला, पुरुषों ने देश भर के बड़े अस्पतालों से आए विभिन्न आयामों के 350 से अधिक स्पेशलिस्ट डॉक्टरों से अपना स्वास्थ जांच कराया ।

कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलित कर एवं अतिथियों के आदर सत्कार से शुरू किया गया।

प्रोग्राम में मुख्य रूप से केंद्रीय मंत्री श्री अर्जुन मुंडा, पद्मभूषण तथा पूर्ण लोक सभा डिप्टी स्पीकर श्री करिया मुंडा, स्थानीय विधायक कोचे मुंडा व नीलकंठ सिंह मुंडा, जनजातीय मामले मंत्रालय के सचिव एवं संयुक्त सचिव श्री अनिल कुमार झा तथा श्री नवल कपूर, उपायुक्त खूंटी श्री शशि भूषण, पुलिस अधीक्षक आर  के एच आई वी एड्स रिसर्च एंड केअर सेंटर के चेयरमैन डॉक्टर धर्मेन्द्र कुमार, डॉ अशोक अत्रम जॉइन सेक्रेटरी हेल्थ ऑफ महाराष्ट्र , डॉ मनोज अग्नी हार्ट ट्रांसप्लांट सर्जन,डॉ दिलीप पवार ऑन्कोलॉजिस्ट,डॉ गोविंद रेड्डी रीजनल डायरेक्टर ऑफ आयुष,दिलीप टुरी  डायरेक्टर ऑफ आर के एच वी ग्रुप बंगाल, अमित गाला  डायरेक्टर ऑफ फाइनांस, डॉ अनिता रांडेरिया, डॉ विमल रांडेरिया फिजियोथैरेपी ,अमित डोसी  एडवाइजर,डॉ प्राची बेडेकर डॉक्टर कोडिनेटर, डॉ अंजलि इत्यादि और खूंटी के साथ देशभर से आए कई गण्मान्य डॉक्टर शामिल हुए ।

मेले में सामान्य जांच से लेकर तमाम बड़ी बीमारियों की जांच निःशुल्क किया गया, और साथ साथ, दवाई भी वितरण किया गया। एलिमको की तरफ से 3000 दिव्यांग लोगों को कृत्रिम अंग उपकरण भी प्रदान किए गए। 100 से अधिक लोगों द्वारा रक्तदान किया गया। 28600 लोगों को चश्मे दिए गए।

इस प्रोग्राम के संबोधन से पहले माननीय राज्यपाल महोदय रमेश बैस ने रिमोट के जरिए इसका विधिवत उद्घाटन किया। राज्यपाल महोदय ने अपने संबोधन में कहा कि धरती आबा बिरसा मुंडा की धरती पर आज ये प्रोग्राम होता हुआ देखकर बहुत अच्छा लग रहा है, देश की आज़ादी में हमारे जनजातियों का अविस्मरणीय योगदान है। झारखंड वीरों की धरती है। पूरे देश में आज़ादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है, बेहतर स्वास्थ से सच्चे सुख का आनंद मिलता है,  मुझे विश्वास है की आज इस स्वस्थ मेले में लोगों को बेहतर इलाज किया जाएगा, और इस तरह के प्रयासों को गांव के स्तर पर भी ले जाया जाएगा। तभी इसका लाभ आम जनों तक जाएगा। कार्यकर्म  की समाप्ति के बाद उन्होंने तमाम हेल्थ चेकअप स्टॉल का जायज़ा भी लिया।

इस प्रोग्राम को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री श्री अर्जुन मुंडा ने कहा, की आज बिरसा मुंडा की धरती पर इतना बड़ा स्वास्थ मेला का आयोजन कर मन गर्वित है। हम आगे भी ऐसे आयोजन करते रहेंगे। ये नवा पहल स्वास्थ्य मेला  हमारे जिला का मान बढ़ाएगा, इससे भले ही लोगों को आकर खुशी न मिले मगर घर जा कर अवश्य खुशी का पल महसूस होगा।

श्री मुंडा ने आगे कहा कि आज भारत सरकार आज़ादी का 75 वां अमृत महोत्सव मना रही है। आज हमे एक दूसरे को समझने की ज़रूरत है,तभी हम देश की तरक्की करेंगे। उन्होंने कहा कि आदिवासियों को समझाने की जरूरत नहीं, उन्हें समझने की जरूरत है। आज भारत सरकार देश के एक राज्य से आदिवासी महिला को राष्ट्रपति का  उम्मीदवार बनाया है और यह बहुत ही गर्व की बात है कि पहली बार एक आदिवासी महिला राष्ट्रपति बनकर आएंगी।

अबुआ बुगिन स्वास्थ मेला (हमारा बेहतर  स्वास्थ) के आयोजन से पता चलेगा की खूंटी क्षेत्र में जितने भी लोग आज रजिस्ट्रेशन का फ्रॉम भरे हैं, इससे उनके बीमारियों का पता चलेगा और उनका और बेहतर इलाज घर पर आकर किया जायेगा।

प्रोग्राम में मौजूद श्री करिया मुंडा, विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा तथा कोचे मुंडा, उपायुक्त खूंटी, जनजातीय मंत्रालय के सचिव और इस परियोजना सेजुदे प्रमुख चिकित्सकों  ने भी बारी बारी से अपनी बातें रखी।

उक्त स्वास्थ्य शिविर में शिशु रोग, महिला रोग, दांत रोग, कैंसर रोग, हड्डी रोग, हृदय रोग, चर्म रोग, पेट रोग, न्यूरो रोग, नेत्र रोग, यूरो रोग, मधुमेह रोग, रक्त रोग आदि रोगों के विशेषज्ञ चिकित्सक सहित 300 से अधिक डाॅक्टर मौजूद थे। शिविर में सामान्य रोगों की भी जांच कर निःशुल्क दवाईयां दी गई। इसके अलावा शिविर में प्लास्टिक सर्जरी, स्टेम सेल थेरेपी सहित अन्य सुविधाएं से जुड़े विशेषज्ञ भी उपलब्ध थे।

झारखण्ड के जिला खूंटी में  गिनीज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड्स में नाम दर्ज करा चुका डॉक्टर 365 एवं आर के एच आईवी एड्स रिसर्च के एंड केयर सेंटर द्वारा फ्री जेनर मेडिकल  कैम्प ।

सुरेश वाडकर आणि एबी व्ही यांचे सिंगल्स ‘मान ले’ रिलीज

मुंबई- सिंगल्स व्हिडिओसह ‘गुरुकुल’ परतले! पद्मश्री गायक सुरेश वाडकर आणि कॅनेडियन सेंसेशन गायक एबी व्ही यांनी ‘मान ले’ या गाण्यासाठी एकत्र आले आहेत. आजीवासन येथे संगीतकार दुर्गेश, निर्मात्या पद्मा वाडकर यांनी केक कापून सिंगल्स रिलीज केले.

पद्मश्री गायक सुरेश वाडकर यांनी त्यांच्या अनोख्या आवाजाने आणि गायन शैलीने लाखो मने जिंकली आहेत. आता सुरेश वाडकर आजीवासनच्या माध्यमातून गुरूच्या भूमिकेत आहेत. अनेक तरुण संगीतकार, गायकांना तयार करण्यासाठी ते मेहनत घेत असतात.  तरुणांसाठी ते प्रकाशकिरण आहेत. ‘मान ले’ या व्हीडियोत सुरेश वाडकर यांना आपण गायक आणि गुरू म्हणून पाहू शकणार आहोत.

या म्युझिक व्हिडिओमध्ये सुरेश वाडकर कॅनडा स्थित एबी व्ही आणि संगीतकार दुर्गेश यांच्यासोबत एक खास म्युझिकल बाँड शेअर करताना दिसत आहेत. निर्मात्या पद्मा वाडकर यांच्यासोबत या गाण्यात या दोघांनी प्राण फुंकले आहेत. हे गाणे दुर्गेश आर. राजभट्ट यांनी संगीतबद्ध केले असून या म्युझिक व्हिडिओच्या निर्मात्या पद्मा वाडकर आहेत. हे गाणे आजीवासन साऊंडने सादर केले आहे. गायक सुरेश वाडकर, अॅबी व्ही, संगीत निर्माते दुर्गेश आणि निर्मात्या पद्मा वाडकर यांच्यासोबत गाण्याचे लाँचिंग नुकतेच आजीवासन साऊंडमध्ये झाले.

अॅबी व्ही हा टोरंटो येथील पुरस्कार विजेता गायक, गीतकार, संगीतकार आणि निर्माता आहे. संगीतकार दुर्गेश आणि निर्मात्या पद्मा वाडकर या तिघांनी अगोदरच जगभरात संगीताचे एक वादळ निर्माण केलेले आहे.

सुरेश वाडकर आणि त्यांच्या यंग ब्रिगेडकडून जगभरातील संगीतप्रेमी आज संगीत जगतात असलेल्या मधुर संगीताच्या आणखी काही गोष्टींची आतुरतेने वाट पाहत आहे.

मेकिंग ऑफ ‘मान ले’ गाण्याची व्हीडियो लिंक

सुरेश वाडकर आणि एबी व्ही यांचे सिंगल्स ‘मान ले’  रिलीज

Doctor 365 in association with Guinness Book of World Records and Asia Book of Records

Holder R.K HIV AIDS RESEARCH & CARE CENTRE under the guidance of our Chairman Dr. Dharmendra Kumar is dedicated to making India disease free. We have been working dedicatedly for the cause for the past 23 years and have conducted more than 29,000 free medical camps all across the country with more than 3,55,00,000 patients benefited.

Doctor 365 along with RK HIV AIDS Research & care centre is leading in the World for Organising the Biggest Free Medical Camps And is the proud holder of Guinness Book of Worlds Record and Asia Book of Records. We have organised more than 29,000 Medical Camps where more than 3,55,00.000 (Three Crore Fifty Five Lakhs) people benefitted till 2022. Our group of doctors are working as Head of Departments in Prestigious Hospitals in more than 50 cities in India, including Mumbai, Delhi, Chennai, Kolkata, Surat, Ahmadabad, Hyderabad, Patna, Pune, Bangalore etc. For the service of our nation, we all have united together and formed a social service trust for Spreading awareness, providing treatment, Care & Control in medical and surgical treatment. Our aim is to benefit the underprivileged section of our society with the best. healthcare and medical assistance against lethal diseases, surgeries and health related issues.

We organise medical camps in slums and rural areas where health services are not available to destitute and needy people. We have adopted 1300 villages across India and thru our MMVs (Mobile Medical Vans)we are distributing lakhs of hand sanitizers, Masks, soaps to slums and villages across West Bengal, Jharkhand and Maharashtra.

RK HIV AIDS medical camps are conducted by health professionals to carry out a limited health intervention amongst the underprivileged community. The poor attend these camps to get free check-up and treatment. Getting the appropriate kind of health checkup is vital for every human being and while considering it, some important factors like age, lifestyle, family background, and risks are taken into account.

Health examinations and tests at the early stages of the illness can help to cure it faster and save a life before it can cause any damage. One can live longer and healthier only when the individual gets the right kind of health check-up, screening, and treatments. Even the most basic checkups can identify underlying illnesses. These medical camps provide the poor population with overall physical examinations which include eyes and health check-ups, assessment of the functioning of vital organs like the heart, lungs, digestive system, liver, kidneys, and immune system. Free medical camps are extremely helpful for the poor population who earn a meagre income and cannot afford expensive healthcare services offered by hospitals or clinic.

Doctor 365 in association with Guinness Book of World Records and Asia Book of Records